परमाणु 

–        महर्षि कणाद के अनुसार प्रत्येक पदार्थ सरल एवं अपरिवर्तनीय कणों से बना है, ये कण परमाणु है। ??? –        परमाणु (Atom) जो कि ग्रीक भाषा के शब्द Atomio तथा लैटिन भाषा के शब्द Atomos से बना है जिसका अर्थ है अविभाज्य कण। –        डॉल्टन के अनुसार प्रत्येक पदार्थ अविभाज्य कणों से बना है ये … Read more

Loading

भौतिक और रासायनिक परिवर्तन

???                                                                                                                 भौतिक और रासायनिक परिवर्तन 1. भौतिक परिवर्तन : – भौतिक परिवर्तन में, पदार्थ के भौतिक गुणों जैसे आकार, आमाप अर्थात् साइज, रंग और अवस्था में परिवर्तन हो जाता है। सामान्यत: यह उत्क्रमणीय है अर्थात् अभिक्रिया की दशाओं को बदलकर पुन: मूल पदार्थ प्राप्त किया जा सकता है।   – इस प्रकार के पदार्थ … Read more

Loading

अम्ल, क्षारक एवं लवण

??? अम्ल, क्षारक एवं लवण             सभी यौगिकों को उनके रासायनिक गुणों के आधार पर अम्ल, क्षारक और लवण में वर्गीकृत किया जा सकता है। इनमें कुछ विशिष्ट गुण होते हैं जो एक यौगिक को दूसरे से अलग करते हैं।             अम्ल (Acids)             एसिड शब्द की उत्पत्ति लैटिन शब्द 'एडिसन' (acidus) से हुई है, … Read more

Loading

जैव प्रौद्योगिकी

??? I – जैव प्रौद्योगिकी •  वैज्ञानिक पॉलबर्ग को जैव प्रौद्योगिकी का जनक माना जाता है। •  जैव प्रौद्योगिकी तकनीक द्वारा जीव जन्तुओं, सूक्ष्मजीवों की सहायता से मानव उपयोगी उत्पादों का निर्माण संभव है। •  परम्परागत जैव प्रौद्योगिकी में जीवों की सहायता से खाने की वस्तुओं तथा दवाओं का निर्माण किया जाता है।   जैसे … Read more

Loading

राजस्थान-सामान्य परिचय

??? राजस्थान-सामान्य परिचय –        ऋग्वैदिक काल में राजस्थान के लिए ब्रह्मवर्त, रामायणकाल में वाल्मीकि ने मरुकान्तर शब्द का प्रयोग किया। –        राजस्थान शब्द का प्राचीनतम उल्लेख चित्तौड़गढ शिलालेख (घौसुण्डी) तथा बसंतसगढ़ शिलालेख (सिरोही) में मिलता है। –        राजस्थान के राजपुताना शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग 1800 ई. में जार्ज थॉमस ने किया। –        राजस्थान के लिए … Read more

Loading

राजस्थान की स्थिति

??? अक्षांश:- भूमध्य रेखा के समान्तर पूर्व से पश्चिम खींची गई काल्पनिक रेखाएँ जो उत्तर से दक्षिण कोणात्मक दूरी दर्शाती है। दो अक्षांशों के मध्य औसत दूरी 111 कि.मी. है। कुल अक्षांश – 180 कुल अक्षांश वृत्त या अक्षांश रेखाएँ – 179 मुख्य अक्षांश:- भूमध्य रेखा – 0o अक्षांश कर्क रेखा – 23\(\frac{1}{2}\)° उत्तरी अक्षांश … Read more

Loading

अपवाह तंत्र

??? अपवाह:- किसी नदी या निश्चित वाहिका द्वारा अपने साथ जल  का प्रवाह करना अपवाह कहलाता है। अपवाह तंत्र :- किसी नदी एवं उसकी सहायक नदियों द्वारा किसी क्षेत्र से जल को बहाकर ले जाना अपवाह तंत्र कहलाता है। जल संभर/जल विभाजक :-   वह सीमा जो किसी एक अपवाह तंत्र को दूसरे अपवाह तंत्र … Read more

Loading

राजस्थान की जलवायु

जलवायु भारतीय मानूसन एवं जलवायु की सर्वप्रथम व्याख्या अरबी यात्री अलमसूदी ने की। किसी स्थान की दीर्घकालीन अवस्था जलवायु तथा अल्पकालीन अवस्था मौसम कहलाती है। जलवायु के निर्धारक घटक तापक्रम, वायुदाब, आर्द्रता, वर्षा एवं वायु वेग हैं। किसी भी क्षेत्र का उसके दाब, ताप व आर्द्रता का आकलन ही वहाँ का मौसम, ऋतु व जलवायु … Read more

Loading

राजस्थान के खनिज

राजस्थान खनिज सम्पदा की दृष्टि से एक सम्पन्न राज्य है। देश के खनिज क्षेत्र में राजस्थान प्रमुख राज्य होने के कारण ‘खनिजों का अजायबघर’ कहा जाता है। राजस्थान के अरावली पर्वतमाला क्षेत्र तथा दक्षिण-पूर्वी पठारी भाग में खनिज प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है। राज्य में 81/82 प्रकार के खनिज पाए जाते हैं उनमें से वर्तमान … Read more

Loading